हे दोस्तों, अगर हम आज की पीढ़ी की बात करें तो हर लड़का एक लड़की के पीछे पड़ा है! और तक़रीबन हर लड़की एक लड़के के पीछे पड़ी है! ये दोनों एक दुसरे के पीछे दीवाने बने पड़े हैं! Relationship vs Single Life – कौन बेहतर है हमारे लिए? तो बस आज हम इसी के बारे में हम आपसे बाते करने वाले हैं!

मानो प्यार के अलावा दुनिया में और कोई चीज है ही नहीं करने के लिए! लड़के अपना कैरियर भूल चुके हैं, लड़कियां अपना परिवार भूल चुकी है! ऐसा लगता है मानो करियर है ही नहीं जिंदगी में बस लड़की!

Relationship vs Single Life

 

आप यह मत सोचिए कि मैं इन सब के खिलाफ हूं। मैं सिर्फ यह बात आपको समझाने की कोशिश कर रहा हूं। आपके भविष्य के लिए क्या सही है और क्या गलत।

वैसे तो हमारे अन्दर काफी बदलाव आते हैं! आज हम उन 5 मनोवैज्ञानिक बदलाव (Five Psychological Change After Making Relationship) के बारे में बाते करेंगे! तो फिर, बातों को बिना इधर-उधर घुमाते हुए, तो फिर चलिये आज की Topic पर आते हैं।

Relationship vs Single Life – Which is Better For You?

तुलनात्मक दृष्टि से अगर देखा जाय, तो एक Relationship में आने के बाद हमारी ज़िंदगी, रहन-सहन में काफी बदलाव आते हैं। असल मे हम पहले जैसा नही रहते।

वो कौन से बदलाव आते है। जिसकी वजह से हम इतना बदल जाते है। इसी की चर्चा आज हम आप सभी के साथ मिलकर करेंगे।

1. आपका व्यवहार एक अभिनेता की भांति बन जाता है – (You Act Like An Actor)

क्या आप ये नहीं सोचते? की आप एक अछे Boyfriend बने! जी हाँ, हर लड़का यही चाहता है की वह आपकी Girlfriend को एक अच्छा Boyfriend बनकर दिखाए! और अच्छा बनना इतना आसान भी नहीं है!

जब कभी Girlfriend की कोई बात आपको अच्छी नहीं लगती! तो आप क्या करते हैं! अच्छा बनने का प्रयास करते हैं न? और इसके लिए हमे Acting करनी पड़ती है! आइये समझने की कोशिश करते हैं! की आप क्या-क्या करते हैं!

  • आप उसे ये दिखाते हैं की आप एक Cool Boy हैं! जो कभी किसी बात का बुरा नहीं मानता!
  • आपको पता होता है कि आप कितना बुरा महसूस कर रहे हैं! पर अपने गुस्से को कभी उसे ज़ाहिर नहीं होने देते हैं!
  • आप दिखाते हैं की आप एक समझदार इंसान है! जो हमेशा समझदारी से काम लेता है!
  • आप ये भी दिखाते हैं की आपको उस पर पूरा विश्वास है! जो की सच नहीं है! सच तो यह ही आपको उस पर ज़रा सा भी विश्वास नहीं है!

इन सभी के अलावा और भी बहुत सारी बातें हैं! जो आप करते हैं! बहुत अंतर है यारों “Relationship vs Single Life” में!

2. आप समाज से कतराने लगते हैं – (You Start Living Away From Society)

जी हां दोस्तों, एक समय था जब आप 3 में 4 लोगों के सामने कम से कम 2 घंटे बातें ना कर लिया करते थे! अपनी राय न दे दिया करते थे! तब तक आपको चैन नहीं आता था!

पर आज देखिए एकदम उल्टा हो गया है! अब बस लड़की के ख्याल में खोए रहते हैं! दिन-रात उसी लड़की के बारे में सोचते रहते हैं! कि उनसे क्या बात किया? कैसे बात किया? और फिर आगे क्या बात करेंगे? कि वह आपसे और भी ज्यादा इंप्रेस हो जाए!

आप और आपका फ़ोन, आप दोनों के अच्छे मित्र बन जाते हैं! आपके लिए आपकी Girlfriend की बातें, उसकी नादानियां, उसकी ख़ुशी, उसकी परेशानियां ही आपका समाज बन जातीं हैं!

अब आपके पास समय कहाँ है! जो आप अपने दोस्तों से कुछ देर बाते करें! आपका समय तो बस, अगर आपकी Girlfriend वह दुखी है तो खुश करने में, नाराज है तो उसे मनाने में, परेशान है तो परेशानी दूर करने में और भी न जाने क्या-क्या?

अब आपकी Girlfriend ही आपके लिए सब-कुछ बन गयी है! बस यही सब करने में आपका समय समय निकलता जा रहा है! पढाई-लिखाई का तो जैसे, आपने बैंड ही बजा दिए हों!

3. आप दिन-रात बस उसी के बारे में सोचने लगते हैं – (You Start Thinking About Her All Day)

वाह रे जमाना क्या जमाना आ गया है। मुझे तो हंसी आती है! कुछ लड़कों को मैंने देखा है जो दिन रात फोन पर अपनी गर्लफ्रेंड से बातें करते रहते हैं। और फिर, फोन रखने के बाद उन्हीं के बारे में दिन रात सोचते रहेंगे।

ये देखिये आप क्या सोचते हैं – “उसकी ये बात बहुत अच्छी लगी, यार मुझे नहीं पता था की वो मुझे इतना प्यार करती है, वो मुझे धोखा तो नहीं देगी ना, अगली बार फ़ोन पर उससे ये बाते करूँगा, अभी क्या कर रही होगी वो” इत्यादि!

अरे बाप रे… क्या हो रहा है? क्या है ये सब? इनका दिल और दिमाग इस तरह से पगलाया हुआ है! जैसे बिना पानी के मछली तड़प रही होती है!

अब तो इनकी ज़िन्दगी में Family नाम की भी कोई चीज़ है ही नहीं। माता-पिता तो है ही नहीं। ना ही बहन है नहीं भाई और ना ही है उनका भविष्य। बस करो यारो मुझे रुलाओगे क्या?

तो चलिए फिर आगे बढ़ते हैं – Relationship vs Single Life – की अगली विषय पर!

4. आप शक करने वाला इंसान बन जाते हैं – (You Become A Suspicious Person)

आपको क्या लगता है? आप अपनी महबूबा पर कभी शक नहीं करते है! क्या आप अपनी जान (महबूबा) पर अपनी आँखें बंद करके भरोसा करते हैं? अगर आपका जवाब “हाँ” है। तो आप बिलकुल ग़लत कह रहे हैं।

हो सकता है कि आप पहले ऐसा नही थे। मैं ये बात हवा में नही कर रहा हूँ। बल्कि यह सच है कि आप अपनी Girlfriend पर भरोसा ही नही करते हैं। आइये समझते है कैसे?

माना कि आप दिन के 24 घंटों में से ज्यादा से ज्यादा समय अपनी Girlfriend से बातें करने में लगा देते हैं। और आपकी इस समस्या की जड़ भी यही है।

किसी बात को लेकर आपके और आपकी Girlfriend के बीच बहस हो जाती है। और कभी या किसी दिन आपकी Girlfriend का Call नही आता है तो आप क्या सोचते हैं?

ये सोचते हैं कि नही कि – “वो अभी क्या कर रही होगी? किसी और से तो बातें तो नही कर रही होगी ना? कहीं उसने मुझे छोड़ तो नही दिया?” और भी तरह-तरह के सवाल आपके दिमाग मे आते हैं कि नही?

हो सकता है हम जो सोच रहे हैं वो पूरी तरह से सच न हो, ज्यादातर Cases में हम गलत ही होते हैं। फिर भी हम एक Insecure (शक्की) इंसान बन जाते हैं।

5. आपका ध्यान और मन भटकने लगता हैं – (Your Mind Starts Wandering)

और आखिर में सबसे भयंकर समस्या जिससे हम चाहकर भी नही निकल पाते। हम चाहे जितना भी प्रयास क्यों न कर ले, हम अपने दिल और दिमाग पर काबू नही कर पाते।

हमारे शरीर को छोड़कर बाकी सारे चीज़ बस उसी के बारे में सोचते रहते हैं। क्योंकि हम अपना सारा Attention एक इंसान पर जो दे जाते हैं। उसके बारे में सोचना और उसे याद करके हँसना और रोना हमारी आदत बन जाती है।

समस्या तो होगी ही क्योंकि हम अपनी सबसे Important चीजें उस इंसान को जो दे देते हैं। वो चीजें क्या है आइये हम जानते हैं।

  • हमारा “समय” (Time) – जो कि हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण है।
  • हमारी “ताकत” (Energy) – उसे सोचने में लगा देते हैं।
  • हमारा “प्रयास” (Effort) – हर प्रयास करते है उसे खुशी देने के लिए।

जब तक हम अपनी ये तीन चीजें उस इंसान को देते रहेंगे। तक तक हम अपनी ध्यान और मन पर काबू नही पा सकते।

आखिरी शब्द (Conclusion):

अब-तक तो आप समझ ही गये होंगे। कि Relationship vs Single Life इन दोनों में से कौन बेहतर है और एक Relationship में आने के बाद आप मे वो 5 मनोवैज्ञानिक बदलाव (Five Psychological Change After Making Relationship) कौन से आते हैं।

मेरी राय (My Opinion):

मैं इस विषय (Topic) से आपको सिर्फ समझाने की कोशिश कर रहा हूं। कि वह समय भी आएगा जब आप भी गर्लफ्रेंड बनाने के लायक होंगे।

इस समय आपके पास कुछ भी नहीं है भरपाई (Recover) करने के लिए। लेकिन उस समय आपके पास भरपाई (Recovery) के लिए आपका जॉब होगा। कोई जरूरी नहीं है कि आज जो आपकी गर्लफ्रेंड है। वो हमेशा आपके साथ रहेगी। नहीं मेरे दोस्त ऐसा नहीं होता। वह कभी भी आपका साथ छोड़ सकती है।

वो इसलिए कि आपको जिस उम्र में अपना करियर बनाना चाहिए था। उस उम्र में आप उस लड़की के प्यार के पीछे पागल हुआ करते थे। जबकि आपको सबसे पहले अपना Career बनाना चाहिए था।

मेरी बात मानिये, आप अपने प्यार और अपनी कामयाबी (Career) के बीच एक Balance बनाकर चलिये। और फिर उस मुकाम तक पहुंचिए।

वरना,आपको भविष्य में अपने आप पर बहुत पछतावा होगा। और उस समय आप खुद पर हंस रहे होंगे।

तो दोस्तों, आज का हमारा Relationship vs Single Life का विषय कैसा रहा?

हमे ज़रूर बताइये, Comment करके। और Comment में अपनी राय और सुझाव हमे अवश्य दीजिये।

हमे Follow कीजिए:

Facebook: facebook.com/HindiBuddy

Twitter: twitter.com/BeingHaseebAlam

Instagram: instagram.com/BeingHaseebAlam

हमारे WhatsApp Group को जो Join करिये।

फिर मिलते हैं एक नए Topic के साथ। तब-तक के लिए BYEEE…

10 thoughts on “प्यार करना ठीक है या नहीं – जानिये एक रिश्ते में आने के फायदे हैं या नुकसान?”

  1. Dil Se Bhai Aapne Sahi Kaha Mujhe Bahut Achha Lga Padhkar Or Mene Is Article Mai Khood Ko Paya Kiunki Mai B Kuch Isi Tarh Ke Halato Se Gujar Rha Hun Thanks Bhai Apki Salah Dhyan Mai Rakhoonga Mai Thanks Alot

  2. Thank you so much , ” bhai _ me pyar girlfriend sab moh maya hai , first take care your self then what? You want to do ..mera haal behal kar diya uss ladki ne , achi khel gayi mere dil se , boli kabhi pyaar nahi kiya toh try kar rahi thi , & then she is now married 😂😂😂 achi maza ayi…

  3. mai 10th me tha vo 9th me mai prapose kiya nii kar di vo 10th me ai friendship ki phir love ho gaya bhut jayda phir chod di phir 11th me ai aur phir chalne lag gaya chala phir tabiyat meri bhut kharab huaa phon me bt nii karti thi hospital cla gaya ek bar bhi nii puchi vo na call na sms kuch bhi nii phir dubara pada 12th sath me dyan nii deta tha uski baki puchi thi tabiyat thik hai ab jab school ane lag gaya tb phir 6 mahina bt nii hui baki mai love karta tha usse uski friend bolti thi ki vo kisi aur se karti hai jaha ghumne jati hai vaha bf bana leti hai phir desember me boli ki mai tumse love karti hu bulvai apne friend se mai mana kar diya phir khud call ki to ha kardiya lekin kiss karne ko bole to marrige ke bd meri kisi aur se hogi tumhari kisi aur se kabhi kabhi bol deti hai ki mai garmi me badal jati hu kya karu kuchh samajh me nii ata lgta hai ki chutiya bna rhi mere ko phir bolti hai ki collage me phon se bt karugi sab krege mere kuch samjh me nii ata help me

    1. Hey Mr. Atul…

      Filhal appko is tarah ke tension aur coflict wale relationship me nahi padna chahiye…

      behtar yahi hoga ki aap apne study aur career par focus kariye, fir dekhiye wo ladki to kya saari duniya aapki respect karegi…

      finally… You Deserve Better…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *